उपखंड अधिकारी – बगैर मानसिक दबाव के पढ़नी चाहिए बेटियां

उपखंड अधिकारी - बगैर मानसिक दबाव के पढ़नी चाहिए बेटियां
बगैर मानसिक दबाव के पढ़नी चाहिए हमारी बेटियां - उपखंड अधिकारी

निरीक्षण के दौरान पाई गई अनियमितताओं पर उपखंड अधिकारी ने हॉस्टल वार्डन को लगाई फटकार जारी किए

– रिया बड़ी के कस्तूरबा आवासीय बालिका एवं शारदे बालिका छात्रावास का उपखंड अधिकारी

सुरेश केएम ने मंगलवार की शाम औचक निरीक्षण कर छात्रावास में बेटियों को मिल रही सुख-सुविधाओं का मुवायना

किया उपखंड अधिकारी सुरेश के एम निरीक्षण के तहत रात 7:00 बजे कस्तूरबा आवासीय छात्रावास में पहुंचे छात्रावास

में बालिकाएं एक ही बेड पर दो दो बालिकाएं बैठी भी नजर आई साथ ही पढ़ाई के दौरान उचित लाइट व्यवस्था नहीं होने

पर उपखंड अधिकारी ने केजीबी के स्टाफ को फटकार लगाई ।उपखंड अधिकारी ने निरीक्षण के दौरान छात्रावास में

शौचालय रसोईघर प्रधानाध्यापक कक्ष का भी निरीक्षण किया साथ ही सीसीटीवी कैमरे अंधेरे में होने एवं बाहर परिसर में

लाइट नहीं होने पर नाराजगी जताई कस्तूरबा आवासीय विद्यालय के निरीक्षण के बाद उपखंड अधिकारी शारदे बालिका छात्रावास में निरीक्षण के लिए पहुंचे।

उपखंड अधिकारी - बगैर मानसिक दबाव के पढ़नी चाहिए बेटियां
रियां बड़ी में शारदे एवं कस्तूरबा आवासीय बालिका छात्रावास का किया औचक निरीक्षण

निरीक्षण के दौरान बालिकाएं अपने अपने रूम में पढ़ाई करते हुए मिली शारदे छात्रावास में भी कमरों में लाइट व्यवस्था

नहीं होने पर उपखंड अधिकारी ने शारदे छात्रावास महिला वार्डन को लाइट व्यवस्था एवं भोजन व्यवस्था के बारे में दिशा निर्देश प्रदान किए।

छात्राओं ने उपखंड अधिकारी के साथ महिला सुपरवाइजर सुमन बेड़ा को अपनी व्यक्तिगत समस्याओं से भी अवगत करवाया।

मोटी रोटी मिलने पर अधिकारी ने कहा कि छात्रावास में नहीं चलेंगे हनुमान रोट

उपखंड अधिकारी ने बालिकाओं से व्यक्तिगत रूप से समस्याएं की जानकारी ली दोनों ही छात्रावास

में पाई गई अनियमितताओं को तुरंत सुधार करने की दिशा निर्देशों के बाद अधिकारी ने उपस्थित छात्राओं

को अध्ययन के लिए प्रेरित करते हुए लक्ष्य निर्धारण की बात कही ।

अधिकारी के निरीक्षण के दौरान भेरूंदा की एक छात्रा ने बताया कि मुझे भी आर ए एस अफसर बनना है और मेरी तमन्ना

है कि मैं अधिकारी बनकर रियांबड़ी में ही आऊ बालिका की हौसला अफजाई करते हुए

समाज कल्याण अधिकारी राम अवतार आंवला नारायण सिह ने ताली बजा बच्ची को प्रेरित किया,

वही 12वी की छात्राओं ने कहा कि विज्ञान संकाय केमिस्ट्री के लिए उन्हें कोचिंग की आवश्यकता है

किंतु छात्रावास से बाहर जाने की अनुमति नहीं होने के कारण परेशानी आ रही है ।

Sdm ने ऑनलाइन क्लासों का दिशा निर्देश प्रदान कर छात्रावास में मिली अनियमितताओं पर प्रधानाचार्य लता राठौड़ से भी संवाद किया निरीक्षण के दौरान

हॉस्टल वार्डन ने उपखंड अधिकारी से कहा कि अब किसी भी प्रकार की परेशानियां बच्चियों को नहीं आएगी

साथ ही छात्रावास में संसाधन जुटाने के लिए बजट के अलावा भामाशाह को भी प्रेरित करने का प्रयास किया जाएगा

Leave a Comment